Saturday, June 12, 2021
Home Dharm जानिए, क्यों नहीं डूबती हाजी अली दरगाह? Religious story

जानिए, क्यों नहीं डूबती हाजी अली दरगाह? Religious story

हाजी अली दरगाह (Haji Ali dargah) पूरी दुनिया में बेहद प्रसिद्ध है। लाखों की संख्या में श्रद्धालु यहां मन्नत मांगने आते है। ऐसा कहा जाता है कि जो भी सच्चे मन से यहां नमस्तक होता है उसकी सब मुराद पूरी होती है। इसे मुंबई के बेस्ट टूरिस्ट प्लेस (Mumbai best tourist places) में से एक माना जाता है।


1431 में हुआ था दरगाह का निर्माण
1431 में ये दरगाह हाजी अली को पीर हाजी अली शाह की याद में बनाया गया था। उनका इस स्थान से खास लगाव था। यहीं पर रहकर ही उन्होंने धर्म का प्रचार प्रसार कर लोगों को सही मार्ग दिखाया था।

समुद्र से घिरे होने के बावजूद एक बूंद भी नहीं जाती दरगाह के अंदर
हाजी अली दरगाह की सबसे बड़ी खासियत ये है कि पूरी तरह समुन्द्र से घिरे होने के बावजूद यहां कभी पानी नहीं अंदर जाता। कई बार बड़े तूफान, ज्वार भाटे आए है लेकिन पानी की एक बूंद भी इसे डूबा नहीं पाई है।

इसमें जाने के लिए श्रद्धालुओं को सीमेंट के पुल को पार करना पड़ता है जो चारों तरफ से पानी से ही घिरा है। दरगाह टापू के 4500 वर्ग मीटर के क्षेत्र में फैली हुई है।दरगाह और मस्जिद की बाहरी दीवारें सफेद रंग से रंगी हैं। इस दरगाह (dargah) की पहचान इसकी 85 फीट ऊंची मीनार है जो श्रद्धालुओं के बीच आकर्षण का केंद्र है। हाजी अली दरगाह देश में बेहद प्रसिद्ध स्थानों में से एक है।

पीर हाजी अली दरगाह का इतिहास
ऐसा कहा जाता है कि जब पीर हाजी अली शाह व्यापार करने आए थे तो उन्होंने इसी जगह को उन्होंने अपना स्थान बनाया था। उन्हे ये जगह बेहद पसंद थी। उन्होंने मुंबई के वर्ली इलाके में ही धर्म के नाम का प्रचार करना शुरू कर दिया था। अपनी संपत्ति को भी उन्होंने सभी जरूरतमंदों में बांट दिया था।


इसी के बाद हाजी अली हज यात्रा पर गए जहां उनकी मौत हो गई। उनकी मरने से पहले ये इच्छा थी कि उन्हें दफनाया ना जाए बल्कि उनके ताबूत को पानी में बहा दिया जाए। लोगों ने उनकी इच्छा अनुसार वैसा ही किया और फिर समुन्द्र के रास्ते उनका ताबूत वहीं आ गया जहां वह रुका करते थे। ऐसा देख कर ही सभी हैरान हो गए। उन्होने फिर उनकी याद में यहां दरगाह बनाई थी।

विवाद
दरगाह से जुड़ा विवाद यहां पर महिलाओं का प्रतिबन्ध था। दरगाह में महिलाओं का जाना वर्जित था। जिसके बाद ये मामला कोर्ट में गया जहां कोर्ट ने महिलाओं के पक्ष में बात लिखते हुए इसे गलत ठहराया। 2011 से पहले तक महिलाएं यहां जाती थी लेकिन बाद में उनके जाने पर मनाही लगा दी गई थीं।

Most Popular

आइसक्रीम के शौकीन जरा ध्यान से, आपकी रिपोर्ट भी आ सकती है positive

हेल्थ डेस्क: पूरी दुनिया को कोरोना वायरस (Coronavirus) का खौफ सहते हुए अब एक साल से ज्यादा समय बीत चुका है। एक तरफ भारत...

सिर्फ चीनी से दूर होगा गर्दन का कालापन, 10 दिनों में दिखेगा फर्क

चेहरे का ध्यान तो हर कोई रखता है लेकिन इस बात पर आपने जरूर गौर किया होगा कि शरीर के अन्य हिस्सों के मुकाबले...

घर में इस जगह कभी ना रखे एक्वेरियम, वरना होगी धन हानि

आजकल के लाइफस्टाइल में लोग कई तरह की परेशानियों और मुश्किलों में घिरे होते है। ऐसे में इसके हल के लिए वो हर तरीका...

आंखों की रोशनी बढ़ाएंगे ये 5 अचूक उपाय, आज ही करें Try

डिजिटल गैजेट्स ने जिंदगी को बहुत आसान बना दिया है। कोई भी काम अब झट से कंप्यूटर या मोबाइल फोन के जरिए हो जाता...

Recent Comments