रातों-रात गायब हो गया था पूरा गांव, ऐसे ही रहस्यों से भरी हैं ये 7 जगहें

Offbeat

कुदरत बहुत ही खूबसूरत हैं लेकिन साथ ही में रहस्यों से भरी भी। आज भी बहुत सारी जगहें ऐसी हैं जिनके बारे में साइंस के पास भी कोई जवाब नहीं हैं चलिए आज हम आपको कुछ ऐसी रहस्यों से भरी जगहों के बारे में बताते हैं।

1. कनाडा, एंजीकुनी लेक के पास का इनुइट गांव
बता दें कि कनाडा का यह गांव पूरा रातों रात गायब हो गया था बिना किसी निशान के छोड़े। यहां रहने वाले लोगों के बारे में जानकारी नहीं मिली जबकि उनके घर के सामान से लेकर हथियार तक सब वहीं जगह पर मिले। वहीं कुत्ते अपनी जगह पर जमें हुए मिले। यहां कोई भी लॉजिकल थ्योरी सामने नहीं आई। हालांकि लोगों का मानना है कि यहां के लोगों को एलियंस अगवा करके ले गए।
2. फ्लोरिडा, बरमूडा ट्राएंगल
यह जगह दुनिया की सबसे रहस्यमयी जगह में से एक हैं जो अमेरिका के फ्लोरिडा, प्यूर्टोरिको और बरमूडा तीनों को जोड़ने वाला एक ट्राएंगल है। ट्राएंगल के पास पहुंचते ही न तो जहाज मिलता है और न ही उसके यात्री। वैज्ञानिक कई सालों से इस रहस्य को सुलझाने में लगे रहे हालांकि 2016 में कुछ साइंटिस्ट ने इस रहस्य के सुलझने का दावा किया है। दावों के अनुसार, ऐसा बादलों की हेक्सागोनल शेप से होता है। ये बादल और 170 मील प्रति घंटे की रफ्तार वाली हवाएं आपस में मिलकर जब जहाज या एरोप्लेन से टकराते हैं और उन्हें खींचकर समुद्र के तल में ले जाते हैं।

3.कैलिफोर्निया, रेसट्रैक प्लाया, डेथ वैली
अमेरिका के कैलिफोर्निया की इस डेथ वैली के लोग भी इस रहस्य का पता नहीं लगा पाएं। दरअसल इस जगह पर पत्थर खुद ब खुद ही खिसकते हैं, जिन्हें सेलिंग स्टोंस का नाम दिया गया है। एरिया में 320 किलो तक के पत्थरों को जगह बदलते देखा गया है। इसे लेकर ढेरों साइंटिस्ट्स रिसर्च कर रहे हैं। सर्द रात में ये बर्फ की पैनल्स की मदद से 224 मीटर तक दूरी तय कर लेते हैं।
4. अंटार्कटिका, ब्लड फॉल्स
अंटार्कटिका का ब्लड-रेड वाटरफॉल मैकमुर्दो ड्राई वैली से बहता है। वैज्ञानिकों की मानें तो टेलर ग्लेशियर से लौह अयस्क वाला खारा पानी जब बर्फ से ढकी सतह पर गिरता है, तो ये सुर्ख लाल रंग का दिखाई देता है।

5. मेक्सिको, आइलैंड ऑफ डॉल्स
मेक्सिको सिटी से 17 मील साउथ में एक छोटा सा आइलैंड है ‘ला इस्ला दी ला मुनेकॉस’। जिसे डॉल्स आइलैंड के नाम से ज्यादा जाता है क्योंकि यहां पर हजारों की संख्या में डरावनी और टूटी-फूटी डॉल्स लटकी हुई हैं। कहा जाता है कि आइलैंड पर जाने वाले व्यक्ति की मौत हो जाती है जो बाद में एक डॉल के रूप में किसी पेड़ पर टंगा मिलता है हालांकि इससे जुड़ी और भी बहुत सारी कहानियां हैं।

6. इंग्लैंड, स्टोनहेंज
इंग्लैंड के विल्टशायर में पत्थरों की इस आकृति को स्टोनहेंज के नाम से जाना जाता है। आर्कियोलॉजिस्ट्स का मानना है कि ये 3000-2000 ईसा पूर्व में बना था। हालांकि, इन्हें बनवाने के पीछे मकसद क्या था ये अब तक रहस्य ही है।

7. तुर्कमेनिस्तान, डोर टू हेल
तुर्कमेनिस्तान के इस आग के गोले को नरक का दरवाजा भी कहते हैं। इसे ‘डोर टू हेल’ के नाम से जाना जाता है। ये गड्ढा एक गैस क्रेटर है, जो मिथेन गैस के चलते पिछले 46 सालों से जल रहा है। ये 229 फीट चौड़ा है और इसकी गहराई 65 फीच है। इस जलते गड्ढे को देखते के लिए टूरिस्ट दूर दूर से आते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *